बस इतनी सी दूरी, ये मंज़िल ये मैं था |

कहाँ आकर फूटे, ये पैरों के छाले |